First Generation Of Computer In Hindi || पहली पीढ़ी के कम्प्युटर की पूरी जानकारी जाने हिन्दी में – 2023

हैलो दोस्तों आज हम आपलोगो इस आर्टिक्ल पोस्ट के माध्यम से बताएँगे First Generation Of Computer हिन्दी में ( कम्प्युटर की पहली पीढ़ी की पूरी जानकारी आज हम जानेंगे हिन्दी में ) तो आप इस आर्टिक्ल को लास्ट तक जरूर पढ़ें फिर आप इसे आसानी से समझ सकतें हैं तो चलिए इसे स्टार्ट करते हैं | :-

 

First Generation Of Computer

 

तो आज हम इस आर्टिक्ल के माध्यम से कुछ बिस्तार समझते जैसे कम्प्युटर की पहली पीढ़ी ( First Generation Of Computer ) पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के उदाहरण ( Examples Of First Generation Of Computer ) पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के कुछ विशेषताएं ( Features Of First Generation Of Computer ) तथा उनके कुछ फायदे व कुछ नुकसान क्या थे ( Advantage And Disadvantage Of First Generation Of Computer) तो चलिए इसे हम बिस्तार से समझते हैं |

 

 

First Generation Of Computer ( पहली पीढ़ी के कम्प्युटर ) 

 

पहली पीढ़ी के कम्प्युटर की सुरूआत सन 1946 से 1956 हुआ था First Generation Of Computer का साइज बहोत बरा हुआ करता था आप इस बात से समझ सकते हैं की उसे रखने के लिए एक कमरे की जरूरत पड़ती थी जिसे रखना बहोत मुसकिल होता था |

पहला Electronic Computer का नाम ENIAC रखा गया था जो सन 1946 के में बनाया गया था | ENIAC का पूरा नाम ( Electronic Numerical Integrator And Computer ) है |

ENIAC को बनाने वाला जे. पी. एकर्ट ( J. K.  Eckert ) और जे. डबल्यू. मोचले ( J. W. Mauchly ) थे |

इसे बनाने के लिए बहोत सारे Vacuum Tube का प्रयोग किया जाता था जिस कारण से इसका वजन बहोत ज्यादा हो जाती थी और इसका आकार भी बहोत जादा हो जाता था इस वजह से इसके लिए एक कमरा की जरूरत पड़ती थी और इसे एक जगह से दूसरे जगह रखने में बहोत मुसकिल होता था आसान भाषा में समझे तो इसे एक ही जगह रखते थे |

First Generation Of Computer

 

 

Examples Of First Generation Of Computer(पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के उदाहरण)

 

पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के कुछ उदाहरण जो इस प्रकार से है | :-

  • ENIAC ( Electronic Numerical Integrator And Computer )
  • EDVAC ( Electronic Discrete Variable Automatic Computer )
  • UNIVAC ( Universal Automatic Computer )
  • EDSAC ( Electronic Delay Storage Automatic Calculator )
  • IBM-701 ( Electronic Data Processing Machine )
  • IBM-650 ( Magnetic Drum Data Processing Machine )

 

Features Of First Generation Of Computer(पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के कुछ विशेषताएं)

 

इस पीढ़ी के कम्प्युटर बहोत बरा हुआ करता था इसके लिए एक कमरे की जरूरत पढ़ती थी और इसे रखना बहोत मुसकिल था क्यूकी इसका आकार एक कमरे की तरह था और इसका वजन बहोत जादा था जिसके कारण इसको एक जगह ही रखा जाता था पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के कुछ विशेषताएं हैं जो इस प्रकार से है :-

 

  1. इसे बनाने के लिए बहोत सारे Vacuum Tube का प्रयोग किया जाता था
  2. पहली पीढ़ी के कम्प्युटर में Storage के रूप में Magnetic Tape का प्रयोग किया जाता था
  3. इस पीढ़ी के कम्प्युटर में बहोत ज्यादा स्पीड कम होती थी कोई भी काम को करने के लिए ये पीढ़ी के कम्प्युटर बहोत टाइम लेता था
  4. इस पीढ़ी के कम्प्युटर को सीमित में प्रयोग किया जाता था क्यूकी इन कम्प्युटरों को प्रोग्राम करना और इसे प्रयोग करना बहोत ही मुसकिल था
  5. इन कम्प्युटरों में Input और Output के लिए Punch Card का उपयोग किया जाता था
  6. इस पीढ़ी के कम्प्युटर इतने Advance और Modern नहीं हुआ करती थी
  7. इस पीढ़ी के कम्प्युटर में मुख्य रूप से बैच प्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता था

 

Advantage Of First Generation Of Computer(पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के फायदे)

 

पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के कुछ फायदे भी थे जो इस प्रकार से है | :-

  • इस पीढ़ी के कम्प्युटर में डाटा की कैलक्युलेशन (गणना ) बहुत तेजी से कर लेता था ये मिली सेकेंड में गणना कर लेता था
  • इन कम्प्युटरों में सिर्फ वैज्ञानिक ही काम कर सकते थे
  • इन कम्प्युटरों में इन्फॉर्मेशन और डाटा को स्टोर करने की क्षमता होती थी
  • इस कम्प्युटर में Vacuum Tube का प्रयोग होता था और ये मार्केट में बोहोत आसानी से मिल जाती थीं और ये काफी सस्ता भी उस समय में था
  • पहले पीढ़ी के कम्प्युटर में मशीन लैंग्वेज के उपयोग के कारण ये बोहोत तेज हुआ करते थे

 

Disadvantage Of First Generation Of Computer(पहली पढ़ी के कम्प्युटर के नुकसान)

 

  • पहले पीढ़ी के कम्प्युटर को लेना बोहोत मुश्किल था क्यूकी ये बोहोत ज्यादा महंगा हुआ करता था जो आम लोगो के लिए लेना बोहोत मुश्किल था
  • इस समय के कम्प्युटर बोहोत ज्यादा गरम होती थी जिसके  कारण (AC) Air Condition की जरूरत पड़ती थी
  • उस समय के  कम्प्युटर को रखना बोहोत मुश्किल होता था आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हो की इसे रखने के लिए  एक  रूम की जरूरत पड़ती थी
  • इस कम्प्युटर को मेंटेन करना बोहोत मुश्किल था ये विश्वसनीय ( Reliable ) नहीं थे और इन्हे उपयोग करना भी बोहोत कठिन था
  • इसमे प्रोग्रामिंग करना बोहोत कठिन कार्य था ये कम्प्युटर केवल मशीन लैंग्वेज का इस्तेमाल करते थे

 

दोस्तों तो आज हमने बताया First Generation Of Computer In Hindi (  पहली पीढ़ी के कम्प्युटर की पूरी जानकारी हिन्दी में ) मैं आशा करता हूँ की ये आर्टिक्ल पोस्ट के माध्यम से मैंने जो आपलोगो तक जानकारी दी है वो आपलोगो को समझ आया होगा अगर आपलोगो को कोई चिजे समझ न आया हो या कोई त्रुटि दिखे तो नीचे दिये गए कमेंट बॉक्स में एक छोटी सी कमेंट करें ताकि मैं उस त्रुटि को सुधार कर सकूँ और अगर ये पोस्ट आपको अच्छी लगे तो भी आप एक कमेंट जरूर कर दे  ताकि मुझे होशला मिले और मैं आप लोगो के लिए और भी ऐसे ही अच्छी ओर महत्वपूर्ण Technology से संबन्धित जानकारी देता रहूँ धन्यबाद ||

 

इसे भी पढ़ें :-

 

फॉलो करें :-

Facebook 

Instagram 

Leave a comment