Generation Of Computer In Hindi || कम्प्युटर की पीढ़ियों के बारे में जाने पूरी जानकारी हिन्दी में – 2023

हैलो दोस्तों तो आज हम इस पोस्ट के माध्यम से Generation Of Computer ( कम्प्युटर की पीढ़ियों के बारे में पूरी जानकारी हिन्दी में जानेंगे तो आज आपलोग इस आर्टिक्ल को लास्ट तक जरूर पढ़ें और ये आपको बहोत आसानी से समझ आ जाएगा तो चलिए इसे स्टार्ट करतें हैं |

 

Generation Of Computer In Hindi

 

कम्प्युटर की पीढ़ियाँ | Generation Of Computer In Hindi

 

दोस्तो Generation Of Computer के बारे में बिस्तार से समझते हैं

हम सभी इस बात को अच्छी तरह जानते हैं की कम्प्युटर का आविष्कार अचानक नहीं हुआ इसमे समय-समय पर इसका बदलाव आता रहा इसका निरंतर Modification होते रहें , बहुत साल पहले भी कम्प्युटर का उपयोग किया जाता था लेकिन पहले के कम्प्युटर और आज के कम्प्युटर में बहुत सारे अंतर देखने को मिलता है |

आज के समय के कम्प्युटर बहोत ज्यादा युनीक और मॉडर्न और बहुत ही खूबसूरत एडवांस Feature के साथ देखने को मिल रहा है लेकिन दोस्तों मैं आपको बता दूँ पुराने जमाने के कम्प्युटर इतना युनीक एडवांस Feature के साथ नहीं देखने को मिलता था |

पहले के कम्प्युटर का आकार बहोत बड़ा हुआ करता था जिसके लिए एक रूम को तैयार करना परता था एक कम्प्युटर पूरा रूम ले लेता था जबकि आज के टाइम में कम्प्युटर को रखने के लिए एक छोटी सी जगह मे हो जाती है और एक जगह से दूसरे जगह ले जाने में बहोत आसानी होती है |

पहले के कम्प्युटर बहोत ज्यादा गरम हो जाती थी और उसके लिए AC की जरूरत पड़ती थी और अभी के टाइम पे अगर आपके पास AC नहीं भी है तो आप कम्प्युटर आसानी से चला सकते हो और अभी के टाइम के कम्प्युटर उतना गरम नहीं होती है इसके लिए आपको AC की जरूरत नहीं परने वाली है आप बिना AC के आसानी से उपयोग कर सकतें हैं |

पहले के कम्प्युटर उतना स्पीड नहीं हुआ करती थी एक काम को करने में बहोत टाइम लेता था और गरम भी होता था और आज के टाइम पे कम्प्युटर की स्पीड बहोत ज्यादा हो गयी है और इसका आकार भी बहोत कम हो गयी लेकिन इसका काम बहोत तेजी से बढ़ गया हैं |

जैसे-जैसे टेक्नोलोजी आगे बढ़ती गयी वैसे-वैसे कम्प्युटर के साइज़ कम होते गए और आज के टाइम में बहोत ज्यादा कम कर दिया है इसे करने में बहोत टाइम भी लग गया फ़र्स्ट जेनेरेशन के कम्प्युटर का आकार सबसे बरी थी दूसरे जेनेरेशन में भी बहोत बरी थी लेकिन तीसरा जेनेरेशन से कम्प्युटर छोटा हो गया |

कम्प्युटर की तकनीकी को आगे बढ्ने में बिकसित होने में बहोत टाइम लगा जिसे कम्प्युटर की पीढ़ियाँ में बाँट दिया गया है (Generation Of Computer ) जो इस प्रकार से है :-

 

  1. पहली पीढ़ी के कम्प्युटर (1946 से 1956 तक )
  2. दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर ( 1956 से 1964 तक )
  3. तीसरी पीढ़ी के कम्प्युटर (1964 से 1971 तक )
  4. चौथी पीढ़ी के कम्प्युटर (1971 से 1985 तक )
  5. पाँचवी पीढ़ी के कम्प्युटर (1985 से अभी तक )

 

पहली पीढ़ी के कम्प्युटर के गुण 

 

Generation Of Computer In Hindi

 

  • इसका आकार बहोत बरा एक रूम के बराबर होता था
  • इसमे बहोत सारे Vacuum Tube की जरूरत पड़ती थी
  • इसका सुरूआत 1946 में हुआ था और ये 1956 तक रहा
  • पहली पीढ़ी के कम्प्युटर बहोत ज्यादा गरम होती थी जिसके लिए AC की जरूरत पढ़ती थी
  • इसे चलना बहोत मुसकिल होता था |
  • ये बहोत धीमी गति से चलता था
  • यह कम्प्युटर बहोत नाजुक और कम विश्वसनीय हुआ करते थे

 

दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर के गुण 

 

Generation Of Computer

  • दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर Transistors का उपयोग होता था |
  • इसकी गति अधिक और विश्वसनीय थे
  • पहली पीढ़ी के तुलना में इसका साइज़ बहोत कम हो गया था
  • ये उतना गरम नहीं हुआ करता था
  • इसका मेंटेन करना बहोत आसान हो गया था
  • इसमे बिजली बहोत कम लगता था
  • इसका सुरूआत 1956 को हुआ था और ये 1964 तक रहा

 

 

 

तीसरी पीढ़ी के कम्प्युटर के गुण 

 

  • इसमे Integrated Circuit उपयोग होता था
  • ये पहले से काफी छोटा हो गया था
  • ये पहले से अधिक तेज गति से चलता था
  • ये रखना बहोत आसान हो गया था क्यूकी इसका साइज़ बहोत छोटा हो गया था
  • ये बिजली पहले से बहोत कम उपयोग होता था
  • ये बहोत सस्ता भी मिल जाता था
  • इसका सुरूआत 1964 को हुआ और ये 1971 तक रहा

 

चौथी पीढ़ी के कम्प्युटर के गुण

 

  • इसमे VLSI ( Very Large Scale Integrated ) का उपयोग होता था
  • इसे चलना बहोत आसान हो गया था
  • इसमे बहोत अधिक गति ये चलने लगा था
  • इसको चलाने में आधीक बिजली की खपत नहीं हुआ करती थी
  • ये पहले से बहोत छोटा आकार का हो गया था
  • इसका सुरूआत 1971 को हुआ और ये 1985 तक रहा

 

पाँचवी पीढ़ी के कम्प्युटर के गुण 

 

  • इसमे ULSI ( Ultra Large Scale Integrated ) का उपयोग होता है
  • पहले से काफी ज्यादा तेज गति से चलता है
  • इसका सुरूआत 1971 मे हुआ था जो अभी तक चल रही है
  • इसमे पहले से काफी छोटा और मॉडर्न हो गया है
  • इसको चलाना बहोत आसान हो गया है

 

 

FAQ : Generation Of Computer In Hindi

Q :-  कंप्यूटर की 5 पीढ़ियां कौन कौन सी है?

Generation Of Computer

  1. पहली पीढ़ी के कम्प्युटर (1946 से 1956 तक ) Vacuum Tube
  2. दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर ( 1956 से 1964 तक ) Transistors
  3. तीसरी पीढ़ी के कम्प्युटर (1964 से 1971 तक ) Integrated Circuit
  4. चौथी पीढ़ी के कम्प्युटर (1971 से 1985 तक ) VLSI ( Very Large Scale Integrated )
  5. पाँचवी पीढ़ी के कम्प्युटर (1985 से अभी तक ) ULSI ( Ultra Large Scale Integrated )

 

Q :-  कंप्यूटर को कितने जनरेशन में बांटा गया है?

कम्प्युटर को पाँच जनरेशन में बांटा गया है  Generation Of Computer , पहली , दूसरी , तीसरी , चौथी , पाँचवी

 

Q :-  कंप्यूटर में जनरेशन क्या होती है?

Generation Of Computer कम्प्युटर की पीढ़ी इस बात पे आधारित होती है की कम्प्युटर मे तकनीकी का परिवर्तन कब होती है

 

Q :-  कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का समय क्या है?

  1. पहली पीढ़ी के कम्प्युटर (1946 से 1956 तक ) इसमे Vacuum Tube  का उपयोग होता था

 

Q :-  कंप्यूटर की पीढ़ियां कब से कब तक चली?

Generation Of Computer कम्प्युटर की पीढ़ी 1946 से अभी तक चल रही है जो इस प्रकार से है

  1. पहली पीढ़ी के कम्प्युटर (1946 से 1956 तक )
  2. दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर ( 1956 से 1964 तक )
  3. तीसरी पीढ़ी के कम्प्युटर (1964 से 1971 तक )
  4. चौथी पीढ़ी के कम्प्युटर (1971 से 1985 तक )
  5. पाँचवी पीढ़ी के कम्प्युटर (1985 से अभी तक )

 

दोस्तो तो आज आपलोग को इस आर्टिक्ल के माध्यम से हमने आपको Generation Of Computer के बारे में पूरी जानकारी दी है अगर आपको समझने में कोई दिक्कत है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स मे लिख के मुझे बताए ताकि आपको अच्छी तरह से मैं समझा सकु और मैं भी अपना गलती सुधार सकु Generation Of Computer में मुझे जितना पता था वो आपलोगो के साथ साझा किया हूँ धन्यबाद

 

Generation Of Computer इस आर्टिक्ल को पढ़ने के लिए धन्यबाद ||

 

इसे भी पढ़ें 

 

फॉलो करें :-

Facebook

Instagram 

Leave a comment